पूरानी यादें… बार बार…!!!

चलो एक बार फिरसे खो जाएँ,
उन हसीन यादों के खजाने मे;

जहाँ है सुकून और जझ्बात कई,
कुछ देर उनमें बह जाएँ कहीं ;

सोचें ना बस महसूस करें उसे,
जो था सिर्फ तभी के लीए;

चलो फीरसे जीऐ आज में;
छिप जाएँ बनीये के भेस में,

– मिहिर

Advertisements